जनसँख्या पर प्रतिबंध लगना चाहिए ।

0 व्यक्ति ने साइन किए। 100 हस्ताक्षर जुटाएं!


हम सब जानते है कि छोटा परिवार सुखी परिवार ।

आज हमारे भारत की जनसंख्या इतनी ज्यादा हो गयी है कि जिससे हम खुद परेशान है ,2021 की जनगणना में भारत की जनसँख्या विश्व में सर्वाधिक हो जायेगी ।

अफ्रिका महादीप में 54 देश है जिनकी कुल जनसँख्या 121 करोड है ,इतनी तो भारत की 2011 में थी ।

यानि 2021 में लगभग 130 करोड़ को भी पार कर जायगी।

अब बात करते है ऑस्ट्रेलिया महादीप की जिसमे 22 देशो की कुल जनसंख्या 2.5 करोड है ,

और भारत में अभी रेलवे की भर्ती आयी थी जिसमे 2.5 करोड फॉर्म भरे गये ।

इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि जितनी जनसँख्या 22 देशो की इतना तो भारत बेरोजगार है ।

विश्व में सबसे बड़ा क्षेत्रफल रूस के पास है जिसकी कुल जनसंख्या मात्र 15 करोड है।

भारत और चीन की जनसँख्या अब बराबर ही है।

यदि हम बात करे की तीसरे नंबर पर कोन देश है ,तो वो है अमेरिका कुल 32 करोड 

चीन का क्षेत्रफल भारत से बहुत बड़ा है।

जनसँख्या एक ऐसा परमाणु बम है जो धीरे-धीरे देश को खाये जा रहा है ,यदि हम अपना और देश विकाश चाहते है तो जनसँख्या पर बैंड लगना चाहिए।

जब चीन लगा सकता है तो भारत क्यों नही।