Dipika Mashiwal
Dipika Mashiwal with 207 supporters

Petitioning MINISTRY OF ENVIRONMENT AND FOREST and 2 others

Save Ganges from Ashrams

Modus Operandi of Asharms near River Ganges. Ashram have developed as resorts for foreigners to get foreign funding in name of Yoga and Sadhna doing business of nature and Ganges. So many ashrams like Arya Vihar Ashram have mushroomed across Ganges and severely polluting the river with activties of huge population in the ashram. Due to terror of these ashram Govt is not able to take action on them. Rishikesh is worst hit. I know that new construction near banks of river is ban. Issues about Arya Vihar Ashram pointed out here is very serious and need government and judicial enquiry. We will start this campaign with removal of Arya Vihar Ashram and get momentum to remove other Ashram mushroomed across Ganges river. index of laws how these Ashram breach: Do monopoly. Means file PIL, give threat,Agitation to remove all projects near River Ganges to run own activity smoothly. Diversion and Channelization of Holy River Ganges in Hindu Religion Construction Activity Along River Ganges. Polluting the Environment by Making Pizza and Cooking in Open through woodfire while Govt provide cooking gas in subsidy. Flow of sewage from Ashram to River Hunting Protected Wildlife Himalayan Deer No Social work in nearby area while getting huge funding. Doing business of Soap for survival addition to huge foreign funding Yoga and Sadhna can be done if you are Foreigner or White skinned. Indians not allowed. Threat to National Security from Foreigners living in Border Area. Removal of Arya Vihar Ashram Required for Safety of Innocent Foreign Sadhak and Holiness of Ganges Please Read in detail with Photograph http://aryaviharashram.blogspot.in/ क्या आप को आश्रम द्वारा किये जा रहे अनैतिक कार्यो की जानकारी है... क्या आप जानते है की किस तरह आप के क्षेत्र का विकास अवरुद्ध कर ये आश्रम अपना एकक्षत्र राज्य स्थापित कर रहे है.. ये आश्रम किस तरह प्रकृति और माँ गंगा से खिलवाड़ कर रहे है अपने गोरखधंधे के लिए.. ऐसे ही कुछ आश्रम है आपके क्षेत्र में जैसे आर्य विहार आश्रम sainj, maneri और पायलट बाबा आश्रम, maneri uttarkashi.. आर्य विहार आश्रम में सिर्फ विदेशियो को जगह दी जाती है भारतीय नहीं घुस सकता। . भरपूर विदेशी चन्दा इकठ्ठा किया जा रहा था फिर २०१२ में भारत सरकार ने ऍफ़ सी आर ऐ कानून के तहत श्री आर्य ट्रस्ट (आर्य विहार आश्रम) पर विदेशी चन्दा लेने पर प्रतिबन्ध लगा दिया.. आर्य विहार आश्रम गंगा नदी पर डाइवर्सन जे सी बी द्वारा करवा चूका है अपने आश्रम को बाढ़ से बचाने के लिए.. आर्य विहार आश्रम गंगा नदी के सौ मीटर के दायरे में सालो से निर्माण कर रहा है जो की हाई कोर्ट और सरकार के आदेश के विरुद्ध है.. आर्य विहार आश्रम ने गैर कानूनी तरीके से आश्रम में हिरन को रखा और उसकी मृत्यु हुई जबकि उत्तरकाशी में डियर पार्क है.. यह वाइल्ड लाइफ एक्ट का उल्लंघन है। . आश्रम के अंदर साबुन का निर्माण कार्य किया जाता है। विदेशी साधक आर्य विहार आश्रम को रिसोर्ट की तरह प्रयोग कर रहे है और लकड़ी जला के पिज़्ज़ा और खुले में खाना बनाया जा रहा है भंडारे के नाम पर पिकनिक कर के। . यातावरण को प्रदूषित कर रहे है जबकि सरकार सब्सिडी पर गैस सिलिंडर देती है.. विदेशी साधक सेना के क्षेत्र और गंगोत्री में खुले आम घूम रहे है देश की सुरक्षा को ताक पर रखकर। यह सब उसी प्रिया पटेल और मीता खिलनानी के मातहत हो रहा है जो गंगा की रक्षा के डंके पिटती है मैग्ससे अवार्ड लेने के लिए.. ये लोग देश का कोई भी नियम मानाने को तैयार नहीं है.. सभी कंपनियों को ये यहाँ से भगा कर क्षेत्र की जनता का विकास अवरुद्ध रखना चाहते है ताकि इनका विदेशी डॉलर का गोरखधंधा चलता रहे। . ये सब बाते आपके सामने तथ्यों के साथ राखी जा रही है.. सारे सबूत और चित्र देखने के लिए गूगल करे आर्य विहार आश्रम या फिर इस लिंक पर क्लिक करिये http://aryaviharashram.blogspot.in/ .. ये क्षेत्र आपका है। .उम्मीद है आप इस बात को आगे ले जाएंगे नेताओ के पास , सरकार के पास और जनता के पास. ये तथ्य सही है या गलत इसकी जांच तो हो। . सच्चे पहाड़ी होने का फ़र्ज़ निभाइये और लड़िये इन आश्रमो से। कृपया अपने पत्रकार मित्र या उचित व्यक्ति को फॉरवर्ड करे http://aryaviharashram.blogspot.in/ Please Sign the Petiton for a great Cause for Mother Ganges.